कौन हैं कैप्टन Tania Shergil, जिन्होंने Army Day पर रचा इतिहास

तानिया, सेना की सिग्‍नल कोर के साथ तैनात हैं। खाकी यूनिफॉर्म के साथ हाथ में तलवार पकड़े तानिया ने दिल्‍ली कैंट में स्थित करियप्‍पा परेड ग्राउंड पर दल का नेतृत्‍व किया। बचपन से ही तानिया सेना में जाने के सपने देखने लगी थीं। उनके पिता, दादा और परदादा सभी सेना में रह चुके हैं। कैप्‍टन शेरगिल के पिता सूरत सिंह गिल, आर्मी की 101 मीडियम रेजीमेंट (आर्टिलरी) में पोस्‍टेड रह चुके हैं। परेड के बाद मीडिया से बात करते हुए कैप्‍टन ने कहा, ‘यह एक गर्व की अनुभूति थी जहां पर एक उपलिब्‍ध का अहसास था और लग रहा था कि जिंदगी के कुछ मायने हैं।’

साल 2017 में OTA से पासआउट
कैप्‍टन तानिया मार्च 2017 में चेन्‍नई स्थित ऑफिसर्स ट्रेनिंग एकेडमी (ओटीए) से पासआउट हैं। इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स एंड कम्‍युनिकेशंस में बीटेक की डिग्री रखने वाली तानिया ने इंजीनियरिंग की पढ़ाई के अंतिम वर्ष में सेना के लिए अप्‍लाई किया था। फाइनल ईयर में उनका सेलेक्‍शन हुआ और वह ट्रेनिंग के लिए ओटीए पहुंच गईं। तानिया की मानें तो उन्‍हें इस बात पर पूरा यकीन था कि उनका सेलेक्‍शन परेड एडजुटेंट के तौर पर होगा। तानिया ने बताया कि उनके परदादा ने प्रथम विश्‍व युद्ध में हिस्‍सा लिया था।

आनंदमहिंद्रा बोले वीडियो ट्रेंडिंग होना चाहिए

तानिया जिस समय परेड को लीड कर रही थीं, उसे देखना अपने आप में गौरवशाली पल था। महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा भी इस मौके पर खुशी का इजहार करने से पीछे नहीं हटे। महिंद्रा ने आईएसएस ऑफिसर सुप्रिया साहू की तरफ से ट्वीट किए गए परेड के वीडियो को रि-ट्वीट साथ ही लिखा, ‘यह वाकई मेरे लिए रोंगटे खड़े करने वाला पल है। यह बहुत ही प्रेरणा देने वाला पल है। तानिया शेरगिल को मैं सही मायनों में एक सेलिब्रिटी कहूंगा। इस वीडियो को ट्रेंड होना चाहिए न कि टिक-टॉक वैरायटी के वीडियो।’

पंजाब में परिवार, जबलपुर में पोस्टिंग
कैप्‍टन तानिया का जन्‍म पंजाब के होशियारपुर में हुआ था। उनका परिवार ज्‍यादातर मुंबई में रहा जहां उनकी मां एक टीचर थीं। माता-पिता के रिटायरमेंट के बाद उनका परिवार होशियारपुर के छोटे से कस्‍बे गरडीवाला में आकर रहने लगा। पिछले करीब नौ वर्षों से उनका परिवार यहीं रह रहा है। फिलहाल तानिया की पोस्टिंग मध्‍य प्रदेश के जबलपुर में है।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.