मुसलमानों के ऊपर आया योगी आदित्यनाथ की तरफ से बड़ा बयान , यकीन करना मुश्किल

 

 

UP के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक बयान मुसलमानों के ऊपर दिया हैं जिसके ऊपर यकीन करना मुश्किल है तो आइए एक नजर डालते हैं उस बयान पर ।यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बिहार में नागरिकता कानून के संदर्भ में एक सभा को संबोधित करते हुए मुसलमानों की बढ़ती आबादी पर बड़ा बयान दिया है ।

आबादी बढ़ने से किसी को कोई परेशानी नहीं हैं पर अगर मुसलमान देश के विकास में हमारी मदद करते हैं। तो उनका हम बहुत अच्छे से स्वागत है पर ऐसा नहीं करते हैं वो तो हम उनका बिल्कुल साथ नहीं देंगे ।

यह बयान योगी आदित्यनाथ का जब आया हैं जब दिल्ली चुनाव आने वाले हैं और योगी आदित्यनाथ ने इतना बड़ा बयान दिया हैं ।

सूबे का मुख्यमंत्री बनने से पहले योगी आदित्यनाथ को लेकर अमूमन लोग उन्हें कट्टर हिंदूवादी और मुस्लिम विरोधी नेता के रूप में देखते थे। लेकिन सत्ता संभालने के बाद उनका जो नया रूप सामने आया है, उसे लेकर क्या हिंदू और क्या मुसलमान, क्या सत्ता पक्ष और क्या विपक्ष दोनों हैरान है। योगी आदित्यनाथ ने जिस तरह तमाम ताबड़—तोड़ फैसले लिए और लेते जा रहे हैं, उससे उनकी छवि बालीवुड की फिल्म नायक के हीरो जैसी बनती जा रही है। आने वाले समय में विपक्षी दल उन्हें कितना घेर पाएंगे बड़ा सवाल यह नहीं है बल्कि इन फैसलों के चलते मुसलमानों में उन्हें लेकर कड़वाहट दूर होगी या फिर बढ़ जाएगी?

मुख्यमंत्री योगी के इस बयान को ऑल इण्डिया मुस्लिम पर्सनल ला बोर्ड द्वारा दो दिन चले महामंथन के बाद तीन तलाक की व्यवस्था में कोई परिवर्तन ना करने के फैसले को लेकर काफी अहम माना जा रहा है। गौरतलब है कि बोर्ड ने स्पष्ट रूप से कहा है कि देश में शरिया कानूनों में किसी भी तरह की दखलंदाजी को वे बर्दाश्त नहीं करेंगे। बहरहाल, पीएम मोदी के बाद सीएम योगी के इस बयान को लेकर राजनीतिक गलियारों में खूब चर्चा हो रही है। योगी का कहना है कि यदि जब हमारे मामले समान हैं तो शादी ब्याह के कानून भी समान क्यों नहीं हो सकते। सर्वोच्च न्यायालय में लम्बित तीन तलाक के मामले में मुस्लिम महिलाओं की राय के आधार पर सूबे की योगी सरकार ने अपना पक्ष रखने की बात कही है।

योगी सरकार ने तीन तलाक के मुद्दे पर मुस्लिम महिलाओं को हर संभव मदद देने का भरोसा दिलाते हुए उन लोगों को लताड़ लगाई है जो इस गंभीर मुद्दे पर चुप्पी साधे हुए हैंं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का कहना है कि इस मुद्दे पर खामोशी धारण किए हुए लोग ने द्रौपदी के चीरहरण का उदाहरण देते हुए उतना ही दोषी करार दिया है जितना कि तीन तलाक देने वाला है।

 

 

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.