बड़ी ख़बर : भारत-चीन तनाव में NSA अजीत डोभाल की एंट्री, चीनी सेना 1 KM तक पीछे

आज सोमवार को चीन से बिगड़ते रिशते और सीमा विवाद को लेकर बड़ी खबर सामने आयी है. चीन के विदेश मंत्रालय से बड़ी खबर निकल कर आयी है.

चीन के विदेश मंत्रालय ने बयान में कहा कि तनाव घटाने के लिए कदम उठाया गया है.

अग्रिम मोर्चे पर तैनात सैनिकों को हटाया गया है. राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल ने रविवार को चीनी विदेश मंत्री वांग यी से वीडियो कॉल के जरिए बात की थी.

एलएसी पर पूरी तरह से शांति बहाल करने के लिए दोनों के बीच लंबी बातचीत हुई है.

भारत और चीन के बीच मई के महीने से जारी विवाद में अब बड़ी खबर सामने आई है. 15 जून को जिस जगह पर दोनों देशों की सेनाएं आमने-सामने आई थीं, अब वहां से चीनी सेना करीब एक किमी. पीछे हट गई है. सेनाओं के बीच लगातार सैनिकों को पीछे हटाने को लेकर मंथन चल रहा था, ऐसे में ये इस प्रक्रिया का पहला पड़ाव माना जा रहा है.

लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) पर गलवान घाटी में हिंसा वाले स्थल के पास से चीनी सेना करीब एक किमी. पीछे हट गई है.

सूत्रों की मानें, तो दोनों देशों की सेना ने रिलोकेशन पर सहमति जाहिर की है और सेनाएं मौजूदा स्थान से पीछे हटी हैं. गलवान घाटी के पास अब बफर जोन बनाया गया है, ताकि किसी तरह की हिंसा की घटना फिर ना हो पाए.

चीनी सेना ने अपने टेंट, गाड़ी और सैनिकों को पीछे हटाना शुरू कर दिया है. कॉर्प्स कमांडर लेवल की बातचीत में यही तय हुआ था. आर्मी के सूत्रों के अनुसार, चीनी करीब एक किमी. पीछे गए हैं, जो भारतीय हिस्से से देखा जा सकता है. हालांकि, गलवान घाटी में काफी पीछे तक चीन ने अपना साजो सामान रखा हुआ है. इसके बाद दोनों सेनाओं में आगे की बात भी हो सकती है.

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *