कोहली की कप्तानी पर भड़के गंभीर:कहा- खराब कप्तानी से भारतीय टीम की हार हुई, विराट की कप्तानी समझ नहीं सकते

पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर लगातार खराब कप्तानी को लेकर विराट कोहली पर बयान देते आ रहे हैं। रविवार को दूसरे वनडे के साथ ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज हारने पर उन्होंने कोहली की कप्तानी को फिर खराब बताया। उन्होंने कहा कि विराट की कप्तानी समझ नहीं सकते।

रविवार को खेले गए सिडनी वनडे में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 51 रन से हराकर सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त बना ली है। मैच में ऑस्ट्रेलिया ने भारत के खिलाफ सबसे बड़ा 389 रन का स्कोर बनाया था। इसके जवाब में टीम इंडिया 338 रन ही बना सकी।

बुमराह जैसे बॉलर से शुरू में 2 ही ओवर कराए
गंभीर ने क्रिकेट वेबसाइट ईएसपीएन क्रिकइंफो कहा- ईमानदारी से कहूं तो मैं उनकी कप्तानी समझ नहीं सकता। हम हमेशा बात करते हैं कि यदि इस तरह की (ऑस्ट्रेलियाई) बल्लेबाजी लाइनअप को रोकना है, तो विकेट लेना बेहद जरूरी है। लेकिन आप अपने प्रमुख गेंदबाजों (जसप्रीत बुमराह) से शुरुआत में सिर्फ 2 ओवर ही करा रहे हैं। आमतौर पर वनडे में बॉलिंग स्पेल 4-3-3 ओवर्स का कराया जाता है।

यह टी-20 क्रिकेट नहीं है
गंभीर ने कहा, ‘‘यदि आप अपने फ्रंट लाइन फास्ट बॉलर्स को 2 ओवर कराकर ही रोक लेते हैं, तो इस तरह की कप्तानी मेरे समझ से परे है। मैं उस तरह की कप्तानी को समझा भी नहीं सकता। यह टी-20 क्रिकेट नहीं है। ईमानदारी से कहूं तो भारतीय टीम की हार खराब कप्तानी के कारण ही हुई।’’

युवाओं को वनडे में मौका देना चाहिए
पूर्व क्रिकेटर ने युवाओं को मौका देने की बात पर कहा- उन्हें (टीम सिलेक्टर) अगले मैच में टीम में वाशिंगटन सुंदर या शिवम दुबे या किसी दूसरे युवा को मौका देना चाहिए। साथ ही देखें कि यह युवा प्लेयर वनडे में कैसे खेलते हैं। यदि आप इनमें से किसी को ऑस्ट्रेलिया दौरे पर नहीं ले गए हैं, तो यह सिलेक्शन लेवल पर बड़ी गलती है।

विराट बुरे कप्तान नहीं, लेकिन रोहित उनसे कहीं ज्यादा बेहतर
हाल ही में गंभीर ने कहा था, ‘‘विराट कोहली बुरे कप्तान नहीं, लेकिन रोहित शर्मा बेहतर कैप्टन हैं। दोनों की कप्तानी में क्वालिटी का यही सबसे बड़ा अंतर है। यदि हम IPL में प्रदर्शन के आधार पर खिलाड़ियों को भारतीय टीम में सिलेक्ट कर सकते हैं, तो कप्तान क्यों नहीं?’’

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *