ट्रंप पर हमले के बहाने शिवसेना का मोदी सरकार पर तंज, अहमदाबाद में कार्यक्रम को गांधी-पटेल का अपमान बताया

सामना में छपे संपादकीय में ट्रंप को गुजरात ले जाने तो गुजराती और सरदार पटेल का अपमान बताया गया है. इसके साथ ही ट्रंप के साथ चीन के राष्ट्रपति को भी गुजरात ले जाने की बात याद दिलाते हुए लद्दाख में चीनी सेना के हमले को लेकर मोदी सरकार पर व्यंग किया गया है.

नई दिल्ली: अमेरिकी संसद में राष्ट्रपति ट्रंप के समर्थकों के हुड़दंग के बहाने शिवसेना ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है. शिवसेना के मुखपत्र सामना में राष्ट्रपति ट्रंप और मोदी सरकार के व्यवहार को लेकर तंज कसा गया है. सामना में छपे संपादकीय में ट्रंप को गुजरात ले जाने तो गुजराती और सरदार पटेल का अपमान बताया गया है. इसके साथ ही ट्रंप के साथ चीन के राष्ट्रपति को भी गुजरात ले जाने की बात याद दिलाते हुए लद्दाख में चीनी सेना के हमले को लेकर मोदी सरकार पर व्यंग किया गया है.

सामना में प्रधानमंत्री मोदी परह तंज कसते हुए लिखा, ”अमेरिका की संसद में जो हिंसाचार हुआ उसको लेकर हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बहुत दुख व्यक्त किया है. मोदी कहते हैं वॉशिंगटन में दंगे और हिंसा की खबरों को देखकर मैं व्यथित हो गया हूं. सत्ता का सहजता और शांतिपूर्ण तरीके से हस्तांतरण होना आवश्यक है. लोकतंत्र की प्रक्रिया को विकृत करने की अनुमति नहीं दी जा सकती. हमारे प्रधानमंत्री की पीड़ा को समझना चाहिए लेकिन कल तक इन्हीं ट्रंप से गलबहियां कर दुनिया के नेता घूम रहे थे.”

सामना में ट्रंप पर हमले के बहाने लिखा, ”इसी ट्रंप की उपस्थिति में ‘हाऊ डू मोडी’ जैसे समारोह अमेरिका में संपन्न हुए. ये कम पड़ गया इसलिए हमारे अमदाबाद में 50 लाख लोगों को जुटाकर ‘नमस्ते ट्रंप’ कार्यक्रम का आयोजन कर सलामी दी गई. ट्रंप का बर्ताव और व्यवहार कभी सुसंस्कृत मनुष्य जैसा नहीं रहा, उनका सार्वजनिक व्यवहार भी लोगों को नापसंद था. ऐसे इंसान के लिए मोदी सरकार ने अमदाबाद में लाल कालीन बिछा दिया था. ये समस्त गुजराती बंधुओं, गांधी और सरदार पटेल का अपमान है. अच्छा हुआ कि उस दलभद्री ट्रंप के पैर हमारे शिवराय के महाराष्ट्र में नहीं पड़े.”

ट्रंप के साथ साथ चीनी राष्ट्रपति के मुद्दे पर सामना में शिवसेना ने मोदी सरकार को घेरा है. संपादकीय में लिखा, ”चीन के राष्ट्राध्यक्ष शी जिनपिंग को प्रधानमंत्री मोदी गुजरात ले गए. उस चीनी राष्ट्राध्यक्ष ने लद्दाख में अपनी सेना घुसा दी है.” कमजोर विदेश की नीति की बात कहते हुए सामना ने लिखा, ”ट्रंप को अमदाबाद ले गए, वो आते समय कोरोना ले आए और अब लोकतंत्र की सीधे-सीधे हत्या कर डाली. हमारी विदेश नीति प्रवाह पतित हो रही है. भूल-भुलैया में पड़कर अपना नुकसान कर ले रही है, इसकी बड़ी कीमत चुकानी पड़ रही है.”

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.