केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी समेत तीन के खिलाफ शूटर वर्तिका सिंह ने दर्ज कराया केस, ठगी का आरोप

उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले की रहने वाली अंतर्राष्ट्रीय निशानेबाज वर्तिका ने आरोप लगाया है, ‘मंत्री की शह पर उनके करीबियों ने महिला आयोग की सदस्य पद का फर्जी नियुक्ति पत्र उन्हें जारी किया.’

लखनऊ: इंटरनेशनल शूटर वर्तिका सिंह ने कथित तौर पर महिला आयोग का सदस्य बनाने के नाम पर 25 लाख रुपये मांगने का आरोप लगाया है. वर्तिका ने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, उनके कथित सहायक विजय गुप्ता और डॉक्टर रजनीश सिंह के खिलाफ ‘एमपी-एमएलए कोर्ट’ में एक शिकायत दायर की है. वर्तिका के वकील के अनुसार अदालत ने मामले की सुनवाई के लिए दो जनवरी 2021 की तारीख तय की है.

दरअसल, 23 नवंबर को अमेठी जिले के मुसाफिरखाना थाना में वर्तिका सिंह और कमल किशोर (नाम पता अज्ञात) के खिलाफ विजय कुमार गुप्‍ता ने एक मुकदमा दर्ज कराया था. इसमें आरोप लगाया है कि ‘आयुष राज्‍य मंत्री, भारत सरकार को रायबरेली में अस्‍पताल के निर्माण के लिए संदर्भित पत्र की प्रतापगढ़ जिले के रामचंद्रपुर निवासी केपी सिंह‍ की पुत्री वर्तिका सिंह कूट-रचना कर (विषय वस्तु बदल कर) मेरे खिलाफ निराधार आरोप लगाकर मानसिक रूप से परेशान कर रही हैं.’

गुप्‍ता ने यह भी आरोप लगाया, ‘वर्तिका सिंह और कमल किशोर सहित अन्‍य लोग उनकी छवि धूमिल करने का षडयंत्र कर रहे हैं.’ गुप्‍ता ने इन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा कर कार्यवाही की मांग की थी. इस संदर्भ में मुसाफिरखाना पुलिस ने वर्तिका सिंह और कमल किशोर के खिलाफ सूचना प्रौद्योगिकी संशोधन अधिनियम की संबद्ध धाराओं के साथ भारतीय दंड सं‍हिता की धारा 509 (आपराधिक धमकी देने) के तहत एक मुकदमा दर्ज किया है.

वर्तिका ने क्या लगाया आरोप
उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले की रहने वाली अंतर्राष्ट्रीय निशानेबाज वर्तिका ने आरोप लगाया है, ‘मंत्री की शह पर उनके करीबियों ने महिला आयोग की सदस्य पद का फर्जी नियुक्ति पत्र उन्हें जारी किया.’ उनका आरोप है, ‘पहले बड़ी-बड़ी बातें कर उन्हें गुमराह किया गया, फिर कहा गया कि इस पद का रेट एक करोड़ रुपए है. लेकिन मेरी अच्छी प्रोफाइल होने की बात कहकर 25 लाख रुपये की मांग की गई.’

वर्तिका ने आरोप लगाया है, ‘मंत्री के करीबी ने उनसे (वर्तिका) अश्‍लील बातचीत भी की.’ वर्तिका के अनुसार, उन्होंने जब इसका विरोध किया, तो विजय गुप्ता ने मुसाफिरखाना थाने में उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया.

वर्तिका के वकील रोहित त्रिपाठी ने बताया विशेष न्यायाधीश ‘एमपी-एमएलए कोर्ट’ पी के जयंत ने अधिकार क्षेत्र पर सुनवाई को लेकर दो जनवरी की तारीख तय की है. अधिवक्ता ने कहा कि पीड़िता को भेजे गए अश्लील संदेश और बातचीत के पर्याप्त साक्ष्य कोर्ट में पेश किए गए हैं.

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.